satire 

Democracy has once again died in Modi’s India. The absolute artistic freedom which the constitution of India awards to all citizens, except leaving out the critics of Abrahamic religions to protect minority rights, naturally a corollary of farsighted interventions by Pandit Nehru, is under threat again. The famous director Sanjay Leela Bhansali, who had erred … Continue reading satire 

khan lobby

क्योंकि आगे इस खेल में आगमन हुआ “खान लॉबी” का. जैसा कि सभी जानते हैं, हिन्दी फिल्म इंडस्ट्री की खान लॉबी और सऊदी-पाकिस्तान में बैठे उनके फाईनेंसर अपनी दादागिरी और गुंडागर्दी के बल पर वितरकों और सिनेमाघर मालिकों को धमकाकर फिल्म रिलीज़ करने हेतु अपनी मनपसंद तारीखें लेते रहे हैं. ईद पर सलमान “भाई” की … Continue reading khan lobby